NGO In Hindi | नॉन गवर्मेंटल आर्गेनाइजेशन की शुरुआत कैसे करें

  • Home
  • NGO
  • NGO In Hindi | नॉन गवर्मेंटल आर्गेनाइजेशन की शुरुआत कैसे करें

आज समाज में बहुत से लोग समाज के गरीब और बेसहारा लोगों के लिए बहुत ही अच्छे कार्य कर रहे हैं। कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो समाज में  ऐसा कार्य करने के लिए जागरूक हैं। NGO एक ऐसा रास्ता है जिसके जरिये कुछ लोग मिलकर समाज में गरीब और पीड़ित लोगों की मदद कर सकते हैं।

अगर आप भी एक नॉन गवर्मेंटल आर्गेनाइजेशन की शुरुआत करना चाहते हैं। तो आप इस आर्टिकल में उन सब जानकारी को प्राप्त कर पायेंगे, जो एक NGO को बनाने के लिए मालूम होना चाहिए। जैसे – NGO Kya Hai, NGO की  शुरुआत कैसे करें, NGO के टाइप क्या हैं, NGO का रजिस्ट्रेशन कैसे करें।

NGO क्या है?

नॉन गवर्मेंटल आर्गेनाइजेशन यानि NGO जिसे नॉन प्रॉफिट आर्गेनाइजेशन भी कहा जाता है। कुछ लोगों का समूह जो बिना सरकार की मदद से समाज के हित के लिए कार्य करते हैं। उस संघटन या समूह को गैर सरकारी संस्था कहते हैं, इसके अलावा जन कल्याण के लिए कार्य करने वाली संस्था भी कह सकते हैं।

दुनिया में बहुत सी ऐसी आर्गेनाइजेशन हैं, जो समाज में पीड़ित लोगों की मदद अलग अलग तरीकें से करती हैं। यानी NGO एक तरह से समाज के लिए कुछ समाज सेवी का संगठन है। नॉन गवर्मेंटल आर्गेनाइजेशन के कुछ सामाजिक कार्य जो इस प्रकार हैं, जैसे – गरीब और अनाथ बच्चों को शिक्षा के लिए मदद करना, तलाक पीड़ित और विधवा महिलाओं के हक के लिए कार्य करना,बेसहारों कों सहारा देना,भूखों को खाना देना, स्किल डेवलपमेंट के द्वारा लोगों को सिखाना और रोज़गार देना इत्यादि।

NGO 1

NGO ACT क्या है?

नॉन प्रॉफिट आर्गेनाइजेशन की बात करें तो NGO तीन केटेगरी होती है, इन तीन केटेगरी को एक्ट भी कहा जाता है। इन तीनों केटेगरी में रजिस्ट्रेशन करने का उदेश्य समाज के अलग अलग सामाजिक समस्या को हल करने का होता है।

सोसाइटी ACT:

ये भी एक तरह की आर्गेनाइजेशन (NGO) होती है, जिसे सोसाइटी एक्ट 1860 के अंतर्गत रजिस्टर किया जाता है। सोसाइटी एक्ट के अंतर्गत आप अपनी सोसाइटी को दो तरह से रजिस्टर कर सकते है।

  • अगर आप स्टेट लेवल पर कार्य करना चाहते हैं, तब आप स्टेट लेवल सोसाइटी का रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।
  • अपने राज्य के अलावा देश स्तर पर कार्य करना चाहते हैं, तब आप सेण्टर लेवल को चुनकर अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।
  • स्टेट लेवल सोसाइटी रजिस्ट्रेशन के लिए 7 मेम्बर का होना जरुरी है। अपने घर के सदस्यों को छोड़कर अपने दोस्तों या रिश्तेदारों को अपनी सोसाइटी में जोड़ सकते हैं।
  • केंद्र स्तर पर सोसाइटी रजिस्ट्रेशन के लिए 8 लोगों की जरुरत होती है। ध्यान दे ये 8 मेम्बर अलग अलग राज्यों के होना जरुरी हैं।

ट्रस्ट एक्ट:

किसी भी ट्रस्ट NGO को शुरू करने के लिए कम से कम 2 ट्रस्टी का होना जरुरी है। किसी भी ट्रस्ट आर्गेनाइजेशन को 1882 ट्रस्ट एक्ट के अंतर्गत रजिस्टर किया जाता है। अगर आपको ट्रस्ट एक्ट के अंतर्गत अपनी NGO को शुरू करना चाहते हैं, तब आपको चैरिटी कमिश्नर या रजिस्ट्रार के ऑफिस में आवेदन करना होगा।

इसके लिए Deed डॉक्यूमेंट की जरुरत होगी, जिनको लगाकर आप एक ट्रस्ट आर्गेनाइजेशन को चालू कर सकते हैं। Deed डॉक्यूमेंट ट्रस्ट आर्गेनाइजेशन का मुख्य डॉक्यूमेंट होता है, जिसमे ट्रस्टी की सारी जानकारी को जोड़ा जाता है। जैसे ट्रस्टी के नाम, उनका हलफनामा, उनका सहमती पत्र, उनके महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट, ट्रस्ट का रजिस्ट्रेशन शुल्क, कोर्ट फीस, स्टाम्प इत्यादि।

सेक्शन 8 कंपनी:

इस तरह की NGO का रजिस्ट्रेशन कंपनी एक्ट के अंतर्गत किया जाता है। कंपनी बेस्ड NGO तैयार करने के लिए Memorandum And Articles of Association And Regulation डाक्यूमेंट्स का होना जरुरी होता है। इस तरह के डॉक्यूमेंट बनाने के लिए कम से कम 3 सदस्यों होना जरुरी है। ये सब मिलकर Section 8 Company  Act के जरिये अपनी NGO को कंपनी के तौर पर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

इस तरह की  NGO को रजिस्ट्रेशन करने के लिए तीन सदस्यों के नाम भरने के साथ साथ तीन अलग कंपनी के नाम भी भरना जरुरी होता है। ऐसा इसलिए होता है कि किसी कारण वंश एक नाम को खारिज कर दिया जाये तब वाकी दिए गए ऑप्शनल नाम से आपकी NGO को रजिस्टर किया जा सके।

NGO कितने प्रकार कि होती हैं

Ngo के भी कुछ प्रकार होते हैं, जिसमे से आप अपनी अनुभव के अनुसार किसी भी प्रकार की आर्गेनाइजेशन को शुरू कर सकते हैं-

  • Environmental Non Government Organization (ENGO)
  • Business Friendly International Non Government Organization (BINGO)
  • International Non Government Organization (INGO)
  • Quasi Autonomous Non Government Organization (QUABGO)
  • Government Organized Non Government Organization (GONGO)

NGO के लिए जरुरी दस्तावेज

अगर आप एक नयी NGO बनाने की सोच रहे तब आप इन डॉक्यूमेंट को तैयार करें। इसके बाद आप अपने कार्य के अनुसार NGO का नाम रखकर NGO के लिए अप्लाई कर सकते हैं। इसके अलावा आपकी आर्गेनाइजेशन का एक अलग बैंक अकाउंट भी होना जरुरी है, जिसे बनबाने के लिए Pan Card की जरुरत पड़ेगी।

  • Trust Deed / Memorandum of Association
  • Articles of Association Regulation
  • Rules and Regulation/Memorandum
  • Affidavit of President
  • Name proof ID (Voter ID/Aadhar Card/ Pan Card)
  • Address Proof
  • Office Address Proof
  • Passport (Mandatory)              

NGO में कार्य कैसे किया जाता है?

दोस्तों अगर हम NGO के कार्य कि बात करें, तब इन बातों का ध्यान देना जरुरी है। क्योकिं कोई भी संस्था चलाने का या शुरू करने का कोई मकसद होता है। यानी हमे NGO को शुरू करने से पहले ये भी जान लेना जरुरी है कि हमारे द्वारा एन जी ओ शुरू करने का क्या मकसद है। अगर आप एक समाज सेवी हैं और लोगों की मदद करना चाहते हैं, तब आप कुछ लोगों के साथ एक अच्छी एन जी ओ की शुरुआत कर सकते हैं। नीचे दिए गयें कुछ टॉपिक में से आप कोई भी टॉपिक चुनकर समाज के लिए सेवा संगठन बना सकते हैं।

  • गरीब बच्चों के लिए एजुकेशन का कार्य
  • गरीब बीमार लोगों के लिए इलाज का कार्य
  • विकलांग लोगों की  मदद का कार्य
  • तलाक पीड़ित और विधवाओं के हक के लिए कार्य
  • किसानों कि मदद के लिए कार्य
  • गरीब महिलाओं या लड़कियों के लिए सिलाई और कड़ाई का कार्य
  • स्किल डेवलपमेंट
  • पानी की आपूर्ति का कार्य
  • आवारा जानवरों की देखभाल का कार्य

आप बहुत से ऐसे सामजिक कार्य को चुनकर अपनी एक एन जी ओ बनाकर समाज की सेवा कर सकते हों। जैसे जैसे हम अपनी एन जी ओ के द्वारा समाज में बेसहारों कि मदद करते जायेंगे। वैसे ही हमारे साथ बहुत से लोग जुड़ते चले जायेंगे और हमारा संगठन भी मजबूत होता जायेगा। इस तरह से हम समाज में फैली हुयी सामजिक समस्याओं को हल करके समाज की सेवा कर सकते हैं।

NGO कौन कौन शुरू कर सकता है?

NGO की शुरुआत कोई भी कर सकता है, लेकिन इसकी शुरुआत करने के लिए कोई उद्देश्य होना जरुरी है। अगर आप एक एन जी ओ कि शुरुआत करना चाहतें है। तब आप सबसे पहले ये डिसाइड करें, कि हमे NGO किस मकसद से खोलना है।

इसके बाद  हमे अपनी अनुभव और उदेश्य के अनुसार किसी भी टॉपिक को चुनकर अपनी आर्गेनाइजेशन का एक अच्छा सा नाम चुनना है। जो विल्कुल नया और यूनिक हों, जिसके बाद आप निचे दिए गए स्टेप को फॉलो करके बहुत ही आसानी से अपनी NGO रजिस्टर कर सकते हैं।

NGO Registration

NGO की शुरुआत और रजिस्ट्रेशन कैसे करें

Non Governmental  Organization शुरुआत करने से पहले आपको कंपनी के विज़न व मिशन और केटेगरी को चुनना है, जिस पर आप कार्य करना चाहते हैं।  एक अच्छी आर्गेनाइजेशन के गठन के लिए उसकी केटेगरी के साथ साथ दिए गए नियम को फॉलो करना भी जरुरी होता है। ऊपर बताये गए तीन एक्ट में से कोई भी एक एक्ट के अंतर्गत आप अपनी नॉन गवर्मेंटल आर्गेनाइजेशन को चैरिटी या रजिस्ट्रार के ऑफिस में जाकर रजिस्टर करवा सकते हैं। या फिर ऑनलाइन पोर्टल दर्पण पर भी रजिस्टर करवा सकते हैं

नॉन गवर्मेंटल आर्गेनाइजेशन के मूल उदेश्य के साथ साथ हमे अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष, सलाहकार और सदस्य को भी बनाना होता है और उनके दस्तावेज का लगाना भी जरुरी होता है। इसके अलावा आपको अपनी नॉन गवर्मेंटल आर्गेनाइजेशन का प्रोफाइल भी बनाना होता है , इस तरह से हमे अपनी नॉन गवर्मेंटल आर्गेनाइजेशन का स्ट्रक्चर तैयार करना होता है।  इस सब प्रोसेस को पूरा करने के बाद हम एक NGO की शुरुआत कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें: ग्राम पंचायत वोटर लिस्ट ऐसे देखें

Tags:
Blog Comments

Good information

Leave a Reply

%d bloggers like this: