World Press Freedom Day 2020 | विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस के महत्वपूर्ण तथ्य

  • Home
  • Special Day Click
  • World Press Freedom Day 2020 | विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस के महत्वपूर्ण तथ्य

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस (World Press Freedom Day) हर साल 3 मई को मनाया जाता है। इस दिवस को हर वर्ष एक विशेष थीम के जरिये सेलिब्रेट किया जाता है। विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर दुनिया भर के  विभिन्न देशों द्वारा आयोजन  किया जाता है। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने दुनिया को प्रेस की स्वतंत्रता के महत्व को समझने के लिए 3 मई को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाने घोषित को  किया।

दुनिया भर में प्रेस की स्वतंत्रता की बात की जाती है। क्योकि प्रेस ही एक ऐसा प्लेटफार्म है जिसके जरिये दुनिया भर की ख़बरों की जानकारी प्राप्त होती है। इसलिए 3 मई को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस (World Press Freedom Day) के अवसर पर प्रेस की स्वतंत्रता और उसके अधिकारों पर भी चर्चा होनी चाहिए।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस (World Press Freedom Day) को मनाने की घोषणा कब हुई

अफ्रीकी पत्रकारों ने 3 मई 1991 को प्रेस की स्वतंत्रता के लिए एक बयान जारी किया, जो प्रेस की आजादी के लिए एक पहल की थी और जिसे विंडहोक की घोषणा के नाम से भी जाना जाता था। इसके बाद संयुक्त राष्ट्र की महासभा ने 3 मई १९९३ से इस दिन को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस रूप में मनाने की घोषणा की। तब से पूरे दूनिया में प्रेस की स्वतंत्रता के महत्व के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए इस दिन को विश्व प्रेस स्वतंत्रता के रूप में मनाया जाता है।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाया जाता है?

दुनिया भर के कई देशों में, पत्रकारों और प्रेस को कई तरह से प्रताड़ित किया जाता है अगर मीडिया संगठन या पत्रकार सरकार की इच्छा के अनुसार कार्य नहीं करते हैं। तब मीडिया संगठनों को तब तक बंद रहने के लिए मजबूर किया जाता है जब तक कि वे आर्थिक रूप से कमजोर करने के लिए उन पर जुर्माना, आयकर छापे, विज्ञापनों पर प्रतिबंध लगाने तक प्रताड़ित किया जाता है।

यह बहुत ही दुख की बात है कि दुनिया भर के अनेक देशों के संपादकों, प्रकाशकों और पत्रकारों पर हमला के साथ साथ उनको बंधक बनाकर उनकी  हत्या भी कर दी की जाती है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए, प्रेस की स्वतंत्रता पहल को विकसित करने के लिए दुनिया भर में इस दिन को प्रेस स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है। जिसका आयोजन हर वर्ष ३ मई को एक नयी थीम के जरिये होता है।

World Press Freedom Day

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस कैसे मनाया जाता है

यह दिन दुनिया भर में 100 से अधिक देशों में मनाया जाता है। प्रेस की स्वतंत्रता के महत्व को समझने के लिए, विभिन्न कार्यक्रमों के साथ सम्मेलन और सांस्कृतिक समारोह आयोजित किए जाते हैं। प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर स्कूलों, कॉलेजों, सरकारी संस्थानों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों में निबंध प्रतियोगिता और प्रश्नोत्तरी से संबंधित चर्चाएँ आयोजित की जाती हैं। जहाँ पर लोगों को प्रेस की स्वतंत्रता के अधिकार के बारे में जागरूक किया जाता है। इस समस्त आयोजन के साथ इस दिन यूनेस्को द्वारा पत्रकारों को पुरस्कार भी दिए जाते हैं।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस का थीम

हर साल 1998 से विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर एक नए विषय पर चर्चा की जाती है, विषय को लाने का उद्देश्य एक महत्वपूर्ण विषय पर चर्चा करना है। जिससे लोगों को उसके प्रीति जागरूक किया जा सके। चलिए हम उन सभी थीम के बारे में-

World Press Freedom Day

World Press Freedom Day की थीम ये हैं –

  • 1998 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस का विषय था: “प्रेस स्वतंत्रता मानव अधिकारों की आधारशिला है”
  • 1999 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस का विषय था: “टर्बुलेंट एरास: प्रेस की स्वतंत्रता पर पीढ़ी के परिप्रेक्ष्य”।
  • 2000 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम थी: “रिपोर्टिंग द न्यूज इन ए डेंजरस वर्ल्ड: द रोल ऑफ द मीडिया इन विवाद सेटलमेंट, सिकुलेशन एंड पीस बिल्डिंग”।
  • 2001 के लिए विश्व राष्ट्रपति स्वतंत्रता दिवस की थीम थी: “नस्लवाद का मुकाबला करना और विविधता को बढ़ावा देना: मुफ्त प्रेस की भूमिका “।
  • 2002 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस थीम: “वैश्विक आतंकवाद पर युद्ध को कवर करना”
  • 2003 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम थी: “मीडिया और सशस्त्र संघर्ष।”
  • 2004 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम थी: ” कितनी जानकारी फैसला कौन करेगा?”
  • 2005 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम थी: ” मीडिया और गुड गवर्नेंस ।”
  • 2006 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम थी: ” परिवर्तन के चालकों के रूप में मीडिया “
  • 2007 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम थी: “संयुक्त राष्ट्र और प्रेस की स्वतंत्रता।”
  • 2008 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम थी: ” प्रेस स्वतंत्रता के मौलिक सिद्धांतों का जश्न मनाना ।”
  • 2009 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम थी: “संवाद, आपसी समझ और सद्भाव”।
  • 2010 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम थी: “सूचना की स्वतंत्रता: जानने का अधिकार”.

LOCKDOWN 3.0 | जाने किस जोन में क्या क्या छूट मिलेगी।

  • 2011 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस थीम ” सदी की मीडिया: न्यू फ्रंटियर्स, न्यू बैरियर ” ।
  • 2012 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस थीम “नई आवाज़ें: मीडिया स्वतंत्रता स्वतंत्रता समाज में मदद करता है”।
  • 2013 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम “बात करने के लिए सुरक्षित: सभी मीडिया में अभिव्यक्ति सुरक्षा की स्वतंत्रता”।
  • 2014 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस का विषय था: “बेहतर भविष्य के लिए मीडिया स्वतंत्रता: 2015 के बाद के विकास को बढ़ावा देना”।
  • 2015 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम थी: “पत्रकारिता का प्रबंधन करें! बेहतरी, लिंग समानता और सुरक्षा के लिए डिजिटल रिपोर्ट।”
  • 2016 के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम थी: “सूचना और मौलिक स्वतंत्रता तक पहुंच – यह आपका अधिकार है!”
  • 2017 के वर्ष के लिए विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस का विषय था: “क्रिटिकल माइंड्स फॉर क्रिटिकल टाइम्स: द रोल ऑफ मीडिया इन एडवांसिंग वर्क, बस एंड इनक्लूसिव सोसाइटीज”।
  • वर्ष 2018 में विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम थी: “कीपिंग पावर इन चेक: मीडिया, जस्टिस एंड रूल ऑफ लॉ।”
  • विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस 2019 का विषय ” फार डेमोक्रेसीः जर्नलिज्म एंड इलेक्शन इन टाइम आफ डिसइंनफारमेशन”” है।
  • वर्ष 2020 के लिए जो थीम है “जर्नलिज्म विदाउट फियर एंड फेवर” जिसका अर्थ है भय और पक्ष के बिना पत्रकारिता।

ये भी पढ़ें –

Leave a Reply

%d bloggers like this: